Advertisement

कलेक्ट्रेट ट्रेजरी या सिविल कोर्ट के काटने पड़ रहे चक्कर नही बन पा रहे स्टाम्प वेंडरों के लाइसेंस

Newsvillah.in
Newsvilla.in

लखनऊ कलेक्ट्रेट व तहसील मैक्स स्टाम्प पेपर बेचने वाले वेंडरों के नए लाइसेंस बनाने पर रोक से आवेदक परेशान हैं।वहीं इस कारण स्टांप एवं निबंधन विभाग के सब रजिस्ट्रार कार्यालय पहुंचने वाले क्रेता- विक्रेता को स्टांप खरीद के लिए 20 से 25 किलोमीटर दूर कलेक्ट्रेट ट्रेजरी या सिविल कोर्ट परिसर में चक्कर काटने पड़ रहे हैं। उधर जिला प्रशासन के अधिकारी सब रजिस्ट्रार कार्यालय में बिल्डरों के लिए स्थान की कमी को कारण बता
चुप्पी साधे है आवेदन करने वालों का आरोप है कि इस्लामपुर विक्रय हेतु उचित प्रक्रिया के बाद वेंडर लाइसेंस जारी करने पर रोक जैसा कोई दिशा-निर्देश नहीं है इसके बावजूद प्रशासनिक अधिकारी स्टांप वेंडरों को जगह उपलब्ध कराने की नाकामी छिपाने को शासन से रोक की बात कह रहे हैं इस कारण राजधानी में डेढ़ साल से बनी सरोजनी नगर तहसील के सब रजिस्ट्रार कार्यालय में जारी स्टांप वेंडर के अतिरिक्त कोई नया स्टांप वेंडर लाइसेंस जारी किया गया। सबसे ज्यादा परेशानी मोहनलालगंज, मलिहाबाद, बीकेटी, सरोजनी नगर तहसील में संचालित सब रजिस्ट्रार कार्यालय में फीड कराने के लिए पहुंचने वाले क्रेता- विक्रेताओं को हो रही है इस संबंध में एडीएम एफआर अवनीश सक्सेना का कहना है कि संबंधित न्यायालय के हिसाब से जारी होते हैं अभी जिले में सवा 200 लाइसेंस धारी स्टांप वेंडर है वही व्यवस्था शुरू हो जाने के कारण मैं वेंडरों की आवश्यकता ना होने से फिलहाल नए लाइसेंस जारी नहीं किए जा रहे हैं ।जगह की कमी से लाइसेंस देने से अव्यवस्था पैदा होने की आशंका है

Post a Comment

0 Comments