Advertisement

अयोध्या में लगाई जानी चाहिए राम- सीता की युगल मूर्ति, जानिए किसने कहा ऐसा?

Newsvillah.in
Newsvllah.in

कर्ण सिंह ने सीएम योगी को पत्र भेज कर दिया सुझाव कहा इसे हजारों वर्ष बाद भी अयोध्या में सीता को मिलेगा एक महत्वपूर्ण स्थान


पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ कर्ण सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर एक सुझाव दिया वह सुझाव था कि अयोध्या में श्री राम के साथ माता सीता की युगल मूर्ति लगाई जाए इससे हजारों वर्ष बाद सीता को अयोध्या में उचित स्थान मिल सकेगा जम्मू-कश्मीर के पूर्व राजा व पूर्व राज्यपाल कर्ण सिंह का कहना है कि पिछले सप्ताह उन्हें बिहार के सिमरिया में मोरारी बापू की कथा और साहित्य सम्मेलन का उद्घाटन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ मिथिला की इस भूमि पर उनके मन में जो विचार आया उसे पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी तक पहुंचाया है
पत्र में उन्होंने कहा कि मिथिला में सीता जी का प्रकट हुआ यही श्री राम के साथ उनका विवाह हुआ नियति देखें विवाह के बाद वह बहू बनकर आयोध्या गई लेकिन कुछ ही दिनों बाद श्री राम के साथ में 14 वर्षीय का वनवास झेलना पड़ा इसी दौरान 14 वर्ष में उनका अपहरण हुआ श्रीलंका में बंदी बन कर रही अग्नि परीक्षा के बाद महारानी बनकर वापिस आयीं इसके बाद गर्भवती होते हुए भी फिर से उन्हें वनवास जाना पड़ा सिंह ने कहा ऐसी दुख परिस्थितियों का स्मरण करते हुए मेरे दिल में एक सुझाव आया कि यदि अयोध्या में श्री राम की भव्य मूर्ति बनाने का निर्णय लिया है तो मेरा अनुरोध है कि उसकी ऊंचाई आधी करके राम और सीता दोनों की मूर्तियां बनाई जाए उन्होंने उम्मीद जताई है कि सीएम योगी उनके सुझाव को स्वीकार करेंगे

Post a Comment

0 Comments