Advertisement

क्वार्टर फाइनल में ही भारत का खेल ख़त्म किया नीदरलैण्ड।

Newsvillah.in
Newsvillah.in

भुवनेश्वर: हाथों में तिरंगा लिए हॉकी प्रेमी स्टेडियम में हर ओर से आती चक दे इंडिया की आवाज मैदान पर हर भारतीय अपनी टीम की हौसला अफजाई का रहा था। सब कुछ भारत के हक में था। आकाशदीप सिंह ने गोल कर भारत को बढ़त दिलाई आकाशदीप सिंह, मनदीप सिंह और दिलप्रीत सिंह ने इसके बाद कॉल करने के आसान मौके चूकने की पुरानी कहानी दोहराई और भारतीय टीम गत उपविजेता नीदरलैंड्स के हाथों की विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में 12 से हारकर बाहर हो गई इसी के साथ 43 साल बाद विश्व विजेता बनने का सपना टूट गया। भारत के लिए आकाशदीप ने (12 मिनट) में गोल किया। नीदरलैण्ड के लिए थियरे ब्रिंकमन (15 मिनट) में और मिंक वान डेर वीरडान (50 वें मिनट) ने एक- एक गोल कर टीम को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया।


ब्रिंकमैन ने दिलाई नीदरलैण्ड को बराबरी:

नीदरलैण्ड ने भारत को गोल का जश्न ज्यादा देर तक नहीं मनाने दिया ब्रिंकमैन 3 मिनट बाद ही गोल कर टीम को बराबरी दिला दी। तीसरा गोल का जश्न रहित रहा। चौथे क्वार्टर में मिंक ने पेनाल्टी कार्नर पर गोल कर नीदरलैंड को दो एक ही बढ़त दिला दी जोकि निर्णायक साबित हुई। लिंक क्लिक को रोकने की कोशिश में अमित ने खतरनाक ढंग से हॉकी घुमाई और इस पर उन्हें पीला कार्ड दिखा बाहर कर दिया।

जर्मनी को 2-1 से हराकर बेल्जियम सेमीफाइनल में: बेल्जियम मैं पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए जर्मनी को रोमांचक मुकाबले में 21 से मात देकर पहली बार अंतिम चार में प्रवेश कर लिया। बेल्जियम के लिए अलेक्जेंडर हेंड्रिक्स (18वें मिनट) और टॉम बून (50वें मिनट) में एक- एक गोल किया जर्मनी के लिए एकमात्र गोल वित्तीय लिनकीगोकल ने खेल के 14वें मिनट में किया।

Post a Comment

0 Comments