Advertisement

आठ साल की एक मासूम बनी हैवानियत की शिकार दुष्कर्म के बाद हुई गला रेतकर हत्या

लखनऊ:जहां एक ओर स्त्रियों के प्रति कुंठा उत्पन्न करने वाली विभिन्न घटनाएं रुकने का नाम नही ले रही वहीं दूसरी ओर एक अन्य घटना सामने आई है जिसने जघन्यता की सारी हदों को पार कर दिया है,मामला है लखनऊ जिले के ठाकुरगंज थाना के निकट स्थित गढ़ी पीर खां मोहल्ले की जहां एक ठेलिया चालक की आठ वर्ष की मासूम बच्ची की बहुत ही बेरहमी से दुष्कर्म के बाद गला रेतकर हत्या कर दी गयी है,
Third Party reference

मामले की जांच में पता चला है कि बच्ची शाम को अपने घर (जोकि सआदतगंज में है)के बाहर खेल रही थी इसी बीच उसके पिता का दोस्त एवम मुंहबोला मामा बबलू उर्फ यासिर उसको समान दिलाने के बहाने ले गया था,जब बहुत देर तक बच्ची वापिस नही आई तो हंगामा मच गया तथा सैकड़ो लोगों का जमावड़ा इकट्ठा हो गया।

इसके बाद बच्ची के पिता आफताब चौकी इंचार्ज व अन्य लोगों समेत गढ़ी पीर खां स्थित बबलू के घर पहुँचे तथा वहां उन्होंने ताला लगा हुआ पाया,ताला देख पुलिस को शक हुआ और उन्होंने बबलू को ढूंढ कर उससे पूछताछ की पहली पूछताछ में बबलू ने मासूम की कोई भी जानकारी देने से मना कर दिया वह नशे की हालत में धुत था परन्तु पुलिस को बबलू पर गहरा शक हो चुका था और उन्होंने बिना कुछ सुने दरवाज़ा तोड़ दिया दरवाज़ा तोड़ने के पश्चात उन्होंने मासूम को वही बेड के नीचे अर्धनग्न मरणासन्न हालत में पाया,
Third party reference

बच्ची की हालत देख लोगों में आक्रोश का माहौल उत्पन्न हो गया तथा गुस्साई भीड़ ने आरोपी बबलू की पिटाई कर दी व उसके घर मे आगजनी का प्रयास किया, आक्रोश बढ़ता देख विभिन्न थानों की पुलिस बुलाई गई तथा शांति बनाने का प्रयास किया गया,
आनन फानन में मासूम को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया,
मामले की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित बबलू को गिरफ्तार कर लिया है,
मामले की जांच अभी भी की जा रही है।
इन सभी घटनाओं के बीच बस एक ही प्रश्न उठता है आखिर कब तक?कब तक हमारे देश की बेटियां यूँ ही हैवानों की बलि चढ़ती रहेंगी,यह पहली घटना नही है ऐसी और भी जघन्य घटनाएं आए दिन सामने आती रहती हैं जो मनुष्य की मनुष्यता को कुंठित कर देती हैं।

Post a Comment

0 Comments